Computer Ke Parts | Computer के पार्ट्स कौन कौन से होते हैं

Computer Ke Parts  दोस्तों जब भी हम मार्केट में Mobile, Computer  या Leptop खरीदने जाते हैं तो सबसे पहले हम ये देखते हैं की उसमे कितनी Memory है कितनी RAM है और कौन सा CPU है उसी से हम समझ जाते हैं की ये कितना अच्छा Computer, leptop या Mobile Phone है.CPU क्या होता है  कंप्यूटर क्या है 

 

तो यहाँ पर हमारे लिए ये समझना बहुत जरुरी है की Memory क्या होती है कितने types की होती है CPU क्या होता है और CPU के काम क्या होते हैं तो बने रहिये हमारे साथ पहले हम आप को बताते है Memory के बारे में, 

 

Memory क्या होती है और यह कितने प्रकार की होती है?

Computer में 3 तरह की Memory होती है

  • Primary Memory,
  • Secondary Memory
  • Cache Memory

Primary Memory:

Primary Memory दो तरह की होती है

  • RAM
  • ROM

RAM (Random Access Memory) :

Computer Ke Parts

ये Computer system को वर्चुअल स्पेस प्रोवाइड करती है हर mobile और Computer system के लिए ये बहुत ही जरुरी part होता है ये Computer Data storage का एक group होता है.Computer Ke Parts 

 

RAM को हम Primary Memory के नाम से भी जानते हैं जब भी हम Computer में कोई काम कर रहे होते हैं तो RAM उस Data को store कर के रखता है.

 

Example: मान लीजिये की आप Microsoft word या Excel में काम कर रहे हैं और आप ने उसमे कुछ शब्द भी लिख दिए हैं और आप ने उस File को Save नहीं किया है तो वो हमारी Primary Memory यानि की RAM में store हो जाता है|Computer Ke Parts 

 

और जब आप उस File को Save कर देते हैं तो वो आप के Hard Drive में save हो जाता है लेकिन ये data आप की RAM में तभी तक store रहता है जब तक की आप के mobile या Computer में pawer रहता है या जब तक आप उस File को बंद नहीं करते हैं.

 

अगर काम करते समय बीच में pawer चली गयी तो आप का सारा Data जो आप ने save नहीं किया है वो delete हो जाता है|Computer Ke Parts 

Read More:

 

Random Access Memory यानि RAM 2 types की होती हैं

  • स्टेटिक RAM (S RAM)
  • डायनमिक RAM (D RAM)

स्टेटिक RAM (S RAM) :

स्टेटिक RAM यानि S RAM Computer में इस्तमाल होने वाली 2 बेसिक Memory में से एक होती है इसे काम करने के लिए लगातार इलेक्ट्रिक pawer की जरुरत पड़ती है.

 

स्टेटिक RAM को store होने वाले Data को याद रखने के लिए रिफ्रेस करने की जरुरत नहीं पड़ती है इस लिए इसका नाम स्टेटिक RAM (S RAM) होता है.

 

स्टेटिक Memory एक Volatile Memory होती है क्युकी जब भी pawer cut हो जाता है तो इसमें store किया गया सारा Data ख़त्म हो जाता है|Computer Ke Parts 

 

डायनमिक RAM (D RAM) :

डायनमिक RAM यानि (D RAM) ये स्टेटिक Memory से बिलकुल उल्टा होता है इसे हम D RAM के नाम से जानते हैं.

 

डायनमिक Memory की कैपीसिटर जो Data को store करते हैं वो धीरे धीरे pawer को डिस्चार्ज करते रहते है अगर एनर्जी खत्म हो जाती है तो Data भी खत्म हो जाता है|

 

Secondary Memory :

Computer की Memory का सेकंड type होता है Secondary Memory इस Memory को अलग से जोड़ा जाता है ये Storage के काम में आती है और इसे Secondary Storage डिवाइस भी कहा जाता है.Computer Ke Parts 

 

Primary Memory के मुकाबले इसकी स्पीड कम होती है लेकिन इसकी Storage की Capacity Primary Memory के मुकाबले बहुत ज्यादा होती है और जरुरत पड़ने पर इसको उपग्रेट भी किया जा सकता है|

 

Secondary Memory 4 types की होती है

  • Magnetic Tape
  • Magnetic disk (Flappy Disk, Hard Disk etc)
  • Optical Disk (CD, DVD etc)
  • USB Flash Drive (Pen Drive)

Cache Memory

Computer की तीसरी Memory होती है Cache Memory यह साइज़ में बहुत छोटी होती है इसे CPU की Memory भी कहा जाता है जिन Programs and instructions  को बार बार इस्तमाल किया जाता है उनको कैश Memory अपने अन्दर save कर लेती है.Computer Ke Parts 

 

 processor कोई भी Data process करने से पहले Cache Memory को चेक करता है अगर वो File उसे वहा पर नहीं मिलती है तो उसके बाद वो RAM Memory और Primary Memory को चेक करता है|Computer Ke Parts 

 

CPU क्या होता है What is CPU?

CPU क्या होता है

CPU Computer का Primary unit होता है जो Instructions को process करता है ये लगातार Operating system और Application को चलाता रहता है इसके साथ ही user के द्वारा किये गये input को रिसीव करता है.CPU क्या होता है 

 

और उसके बेस पर दुसरे सभी Softwear को चलता है ये input किये गए Data को process कर के हमे Output देता है.CPU क्या होता है 

 

Example: जैसे की अगर हम अपने keyboard में एक बटन को प्रेस करते हैं तो CPU उसको process करता है और फिर moniter पर या स्क्रीन पर हमे output देता है.

 

CPU को दुसरे नामो से भी जाना जाता है जैसे की  processor, micro processor, central processor और इसे Computer का दिमाक भी बोला जाता है|Computer Ke Parts 

www क्या होता है www का फुल फॉर्म क्या है

CPU के जरुरी 3 Components होते हैं

  • Storage Unit or Memory Unit
  • Control Unit
  • ALU (Arithmetic and Logic Unit)

Storage Unit or Memory Unit :

Storage Unit or Memory Unit system के Data Instructions और रिसल्ट को store कर के रखती है ये Computer के दुसरे Units को जरुरत पड़ने पर Information supply  भी करती है.Computer Ke Parts 

 

Example: RAM, ROM, Hard Disk etc

Control Unit :

जैसा की इसके नाम से ही पता चलता है की इस Unit का काम है cantrol करना Control Unit Computer के सभी parts के operation को cantrol करता है ये Unit real में data Processing करने का काम करता है.CPU क्या होता है 

 

ALU (Arithmetic and Logic Unit):

ALU के 2 Parts होते हैं

  • Arithmetic section
  • Logical section

Arithmetic section :

Arithmetic section का काम है maths से जुड़े या Calculesan को हल करना जैसे की जोड़, घटाव, गुना, भाग  मुश्किल से मुश्किल Problem का हल इन्ही operation की मदद से निकाला जाता है.Computer Ke Parts 

 

Logical section :

Logical section का काम है Logic operation को पूरा करना जैसे की Comparing तुलना करना, Selection चुनाव करना, matching मिलाव   करना और Merging यानि मिला देना होता है.CPU क्या होता है 

 

CPU के कई types के होते हैं Parts Of CPU

  • Single core CPU: single core CPU में सिंगल कोर होता है
  • Dual core CPU: Dual core CPU में 2 कोर होते हैं
  • Quad core CPU: Quad core CPU में 4 कोर होते हैं
  • Octa core CPU: Octa core CPU में 8 कोर होते है

 

आप के CPU में जितने ज्यादा कोर होंगे उतना ही वो ज्यादा फ़ास्ट होगा और उतने ही आप एक साथ ज्यादा से ज्यादा काम कर सकते हैं

  • Single core CPU: सिंगल कोर CPU पर एक बार में सिर्फ एक ही काम किया जा सकता है
  • Dual core CPU: डुवल कोर CPU पर एक साथ कई काम किये जा सकते थे लेकिन इससे स्पीड कम हो जाती थी
  • Quad core CPU: क्वाड कोर CPU में एक साथ कई काम किये जा सकते है लेकिन स्पीड पर असर नहीं पड़ता है
  • Octa core CPU: ओक्टा कोर CPU में एक से ज्यादा काम किये जा सकते हैं और इसमें भी स्पीड में कोई फर्क नहीं पड़ता है

तो CPU में जितने ज्यादा कोर होते हैं उतनी ही बेहतरीन तरीके से वो मल्टी टास्किंग कर सकता है और स्पीड देता है|CPU क्या होता है 

 

हेल्लो दोस्तों आज की इस पोस्ट में आप लोगो ने जाना की Computer के पार्ट्स कौन कौन से होते हैं और उन सभी पार्ट्स का इस्तमाल कहा पर और कैसे किया जाता है उम्मीद है की आप लोगो को यह जानकारी अच्छी लगी होगी और नया कुछ सिखने को मिला होगा.Computer Ke Parts 

 

दोस्तों अगर इस पोस्ट से आप लोगो को कुछ नया सिखने को मिला है तो हमारे इस साईट के साथ जुड़े और यह पोस्ट अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को शेयर करे जिससे की उन्हें भी कुछ सिखने को मिले, मिलते हैं अगली पोस्ट में तब तक के लिए नमस्कार !

 

Related Keywords: computer ke parts,computer ke parts name in hindi,computer kitne prakar ke hote hain,computer ke prakar,computer kya hai,computer ke bhago ke naam,internal parts of computer in hindi,computer ke upkaran,CPU क्या होता है 

Leave a Comment