कोरोना वैक्सीन कब आएगी कोरोना की दवा कब तक भारत में आएगी

कोरोना वैक्सीन कब आएगी कोरोना वायरस संक्रमण का सबसे पहला मामला बीते साल दिसम्बर में चीन वुहान में सामने आया था जिसके बाद इस वायरस ने तेज़ी से दुनिया के दुसरे देशो में पैर फ़ैलाने सुरु किया दुनिया भर में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले अब 2,66,00,000+ से अधिक हो चुके हैं.

और इस वायरस से मरने वाले लोगो की संख्या 8,75,000+ से अधिक हो चुकी है लेकिन अब तक इस वायरस से निपटने के लिए कोई कारगर वैक्सीन नहीं बन पाई है इसी साल अगस्त में रूस ने covid-19 की पहली वैक्सीन को रजिस्टर किया और इसे नाम दिया Sputnik 5.कोरोना वैक्सीन कब आएगी

रूस का कहने है की उसने मेडिकल साइंस में एक बड़ी कामयाबी हासिल कर ली है लेकिन आलोचकों का दावा है की ये वैक्सीन क्लीनिकल ट्रायल के तीसरे चरण से नहीं गुजरी है और इस कारण ये यकीन नहीं किया जा सकता की वैक्सीन कामयाब होगी.

लेकिन दुनिया भर के कई देशो में कोरोना वैक्सीन बनाने की कोशिसे तेज़ हो रही हैं विश्व स्वस्थ संगठन के अनुसार 34 कम्पनियाँ कोरोना वैक्सीन बना रही हैं और इनमे से 7 कंपनियों के तीसरे चरण के क्लिनिकल जारी हैं.

वही तीन कंपनियों की वैक्सीन दुसरे चरण के क्लिनिकल ट्रायल तक पहुच चुकी हैं संगठन के अनुसार और 142 कम्पनियाँ भी कोरोना वैक्सीन बना रही हैं और अब तक प्री क्लिनिकल स्तर पर पहुच पाई हैं.

विश्व स्वस्थ संगठन की चीफ साइंटिस्ट Dr Soumya Swaminathan के अनुसार ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी की बनाई वैक्सीन जिसे एस्ट्रो जेनिका बड़े पैमाने पर बना रही है वो अब तक की सबसे उन्नत वैक्सीन है.कोरोना वैक्सीन कब आएगी

BBC के स्वस्थ और विज्ञानं संवाद दाता कहते हैं की जानकारों के अनुसार कोरोना वायरस की वैसीं लोगो के लिए 2021 के मध्य तक उपलब्ध होगी हालाकि जेम्स ये भी कहते हैं की कोरोना वायरस परिवार के चार वायरस पहले से ही इंसानों के बीच मौजूद हैं.

और इनसे बचाव के लिए अब तक कोई वैक्सीन नहीं बन पाई है लेकिन कोरोना वायरस वैक्सीन बनने की खबरों के बीच वैज्ञानिको समेत आम लोगो को उम्मीद है की वैक्सीन कुछ महीनो में आ जाएगी लेकिन अब उन्हें फ़िक्र है इसकी कीमत की कि कही ये ज्यादा तो नहीं होगी.कोरोना वैक्सीन कब आएगी

वही वैज्ञानिको को फ़िलहाल चिंता ये है की कोरोना वायरस को दूर रखने के लिए ये वैक्सीन कितनी बार लगनी है|

कोरोना वैक्सीन कब आएगी एस्ट्रा जेनिका की वैक्सीन

ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी की वैक्सीन बना रही कम्पनी एस्ट्रा जेनिका ने कहा है की वो कम कीमत पर लोगो को कोरोना वैक्सीन उपलब्ध कराएगी और उसकी कोशिस होगी की वो इससे लाभ ना कमाए.

बीते महीने मैक्सिको में कम्पनी के प्रमुख ने कहा था की इस वैक्सीन की कीमत 4$ प्रति डोज़ से कम होगी भारत में इस वैक्सीन को बड़े पैमाने पर बना रहे सीरम इंस्टिटयूट ने कहा है की भारत और विकाशील देशो के लिए इस वैक्सीन की कीमत 3$ के करीब होगी.

वही इटली में स्वस्थ मंत्रालय ने कहा है की यूरोप में इसकी कीमत 2.5 Euro तक हो सकती है अगस्त में कोरोना वैक्सीन के लिए ओस्ट्रेलिया ने भी एस्ट्रा जेनिका के साथ करार किया है इस देश के प्रधानमंत्री का कहना है की वो अपने सभी नागरिको को कोरोना की वैक्सीन मुफ्त में देंगे इसके लिए सरकार क्या कीमत चुकाएगी इसपर अब तक कुछ कहा नहीं गया है|कोरोना वैक्सीन कब आएगी

 

कोरोना वैक्सीन कब आएगी सनोफी पस्चार्य की वैक्सीन

फ़्रांस में सनोफी के प्रमुख ने कहा की उसकी भविष्य की covid-19 वैक्सीन की कीमत 10 Euro प्रति डोज़ कम हो सकती है समाचार एजंसी ने कहा है की अभी कीमत पूरी तरह से निधारित नहीं है हम आने वाले समय में होने वाली लागत का आकलन कर रहे हैं हमारी वैक्सीन की कीमत 10 Euro से कम होगी.

दुनिया भर के दवा निर्माता और सरकारी एजंसी महामारी से लड़ने और वैक्सीन विकसित करने की रेस में दौड़ रही हैं सनोफी की और एस्ट्रा जेनिका की डोज़ की कम कीमत होने के बारे में बोगी लोड का कहना है कीमतों में अंतर की वजह हो सकती है की हम अपने आन्तरिक संसाधनों का इस्तमाल करते हैं.कोरोना वैक्सीन कब आएगी

अपने खुद के शोध कर्ताओ और अनुसंधान के केन्द्रों का उपयोग करते हैं एस्ट्रा जेनिका अपने प्रोडक्शन को आउट सोर्ष करता है|

 

चीनी कम्पनी साइनो फार्म की वैक्सीन

चीनी दवा कम्पनी साइनो फार्म के चेयरमैन ने कुछ समय पहले कहा था की कम्पनी जो वैक्सीन बना रही है उसके तीसरे चरण का क्लिनिकल ट्रायल पूरा हो गया है उन्होंने कहा था की एक बार बाजार में वैक्सीन उतारी जायेगी तो इसके 2 डोज़ की कीमत 1000 चीनी रूपए की होगी.कोरोना वैक्सीन कब आएगी

हालाकि जानकारों का कहना है की स्वस्थ कर्मियों और छात्रों को वैक्सीन की डोज़ मुफ्त में दी जानी चाहिए चीनी स्वस्थ अधिकारीयों के अनुसार अगर इस वैक्सीन को रास्ट्रीय टिका करण अभियान में सामिल किया गया तो जिन लोगो के नाम इस अभियान से जुड़े हैं उन्हें ये वैक्सीन सरकारी खर्च पर मिल सकेगी.

फ़िलहाल कम्पनी के चेयरमैन ने इस वैक्सीन की 2 डोज़ लिए हैं और उनका कहना है की इस वैक्सीन के कोई भी साइड इफ़ेक्ट नहीं है|

 

कोरोना वैक्सीन कब आएगी moderna की वैक्सीन

 अगस्त में moderna ने कहा था की कोरोना महामारी को देखते हुए कुछ उपभोक्ताओ को वो वैक्सीन 33 से 47 यानि लगभग 2500 रूपए से कम कीमत में उपलब्ध कराएगी कैम्रिक में मौजूद इस कम्पनी की मुख्य कार्यकर अधिकारी ने कहा था की महामारी के दौरान वैक्सीन की कीमत जितनी हो सके उतनी कम रखी जायेगी.कोरोना वैक्सीन कब आएगी

उन्होंने कहा था की कम्पनी मानती है की महामारी की मुस्किल के दौर में सभी को वैक्सीन मिलनी चाहिए और इसके लिए कीमत सामने नहीं आनी चाहिए|

 

Pfizer की वैक्सीन

दोस्तों इस साल जुलाई में अमरीकी सरकार ने कोरोना वैक्सीन के लिए Pfizer और बायोटेक कम्पनी के साथ करीब 2 अरब $ का करार किया है फाइल्स फार्मा में प्रकाशित ये खबर के अनुसार SBB के विश्लेषक के मुताबिक Pfizer और बायोटेक का कहना था की वो अपनी MR में आधारित कोरोना वैक्सीन अमरीकी सरकार को 19.5 $ प्रति डोज़ के हिसाब से बेचने वाले हैं.कोरोना वैक्सीन कब आएगी

जिसमे उन्हें 60 से 80 फीसदी तक का लाभ होगा व्यक्ति को इस वैक्सीन की 2 सुरुआती डोज़ और एक बूस्टर डोज़ की जरुरत होगी और इसके लिए आम व्यक्ति को 40$ तक देने पड़ सकते हैं वही टीकाकरण कार्यक्रमों के तहत इसकी कीमत करीब 20$ तक हो सकती हैं|

Leave a Comment