Corona Vaccine Launch कोरोना पर जल्द ही मिलेगी अच्छी खुशखबरी

Corona Vaccine Launch दोस्तों आप हम फिर हाजिर हैं कोरोना वायरस से जुडी कुछ अच्छी खबरों को ले कर दोस्तों जैसा की आप लोग जानते हिं की देश में कोरोना मरीजो की संख्या 4.25 लाख के पार हो गयी है ऐसे में इसे रोकने के लिए सरकार तेज़ी से कदम उठा रही है.

 

और रोज इसे लेकर नई रिसर्च भी सामने आ रही हैं वही एक राज़ की बात यह हैं की दिल्ली में कोरोना मरीजो का ठीक होने का आंकड़ा तेज़ी से बड रहा है आप लोगो को जान कर हैरानी होगी की की कोरोना का recovry रेट अब 55 फीसदी से ज्यादा हो गया है.

 

Corona Vaccine Launch इसके साथ ही दोस्तों आज हम आप लोगो को बतायेंगे की देश में एक और दवा का कोरोना वायरस के मरीजों के लिए स्तमाल करने को मंजूरी मिल गयी है साथ ही हम आप को बतायेंगे की कैसे मुंबई के एक बिल्डर ने अपनी बिल्डिंग को कोरोना मरीजों के स्तमाल के लिए BMC को दे दिया|

 

बिना वैक्सीन के ख़त्म हो सकता है कोरोना

Corona Vaccine Launch कोरोना की वैक्सीन बनाने के लिए दुनिया भर के देश दिन भर मेहनत कर रहे हैं ताकि इस खतरनाक वायरस के कहर से लोगो को बचाया जा सके लेकिन इस बिच इटली के डॉक्टर ने दावा किया है की बिना वैक्सीन के कोरोना वायरस ख़त्म हो जाएगा.

 

इटली के पोली क्लिनिक के सेन मार्टेनो अस्पताल में संक्रामक लोगो के विशेषग्य प्रोफेसर मैट्टियों वस्सेटे ने दावा किया है की कोरोना वायरस पहले बाग़ की तरह था लेकिन अब वो जंगली बिल्ली की तरह हो गया है.

 

ब्रिटिस टेलीग्राफ के मुताबिक प्रोफेसर मैट्टियों वस्सेटे ने दावा किया है की बिना वैक्सीन के भी कोरोना वायरस खुद से ख़त्म हो सकता है पहले के हालात में जिस कोरोना मरीज़ की मौत हो सकती थी अब वो recover हो रहे हैं.

 

हालाकि कोरोना वायरस के कमजोर पड़ने की इस बात से दुनिया के कम ही लोग सहमत दिख रहे है इटली में मार्च के आखिर में रोज 5 हजार से 6 हज़ार तक नए केस सामने आ रहे थे लेकिन अब सिर्फ 200 से 300 ही नये केस सामने आ रहे है.

 

संक्रामक लोगो के विशेषग्य प्रोफेसर मैट्टियों वस्सेटे का कहना है की केस घट रहे हैं जिसका की मतलब हो सकता है की वायरस के ख़त्म होने के लिए वैक्सीन की जरुरत नहीं है|

 

 

दिल्ली में कोरोना टेस्ट के लिए होगा सेरोलोजिकल सर्वे

Corona Vaccine Launch देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस के मामले लगातार बड़ते जा रहे है मुंबई के बाद देश में दिल्ली में ही सबसे ज्यादा केस सामने आ रहे हैं इसको देखते हुए अब दिल्ली में सेरोलोजिकल सर्वे करने की तैयारी चल रही है.

 

बताया जा रहा है की ये सर्वे 27 जून से 10 जुलाई तक होंगे इस दौरान करीब 20 हजार लोगो का सैम्पल टेस्ट किया जाएगा इसके आलावा कन्टेमेंट ज़ोन के बाहर उस घर की सूचि लगेगी जहा पर कोरोना वायरस का खतरा है.

 

ताकि लोगो को सावधान किया जा सके इसके आलावा कोरेंटीन को ले कर जोर दिया जाएगा दरअसल दिल्ली में लगातार बढ़ रहे कोरोना के मामलों को देखते हुए रविवार को ग्रह्मंती अमित शाह ने उपराज्य पाल और दिल्ली के साथ बैठक कर इस मामले में रणनीति तैयार की थी|

 

कोरोना के लिए सिप्ला की दवा को सरकार की मंजूरी

Corona Vaccine Launch देश में कोरोना वायरस के मामलों में ऊछाल देखा जा रहा है हर रोज कोरोना वायरस की संक्रमण की रफ़्तार बढती ही जा रही है इस बीच फार्म कम्पनी सिप्ला ने कोरोना वायरस के इलाज़ के लिए दवा को पेश कर दिया है.

 

सिप्ला ने शिप्रिमी नाम से इस दवा को lonch किया है अब सिप्ला की ओर से रिस्क manegment प्लान के तहत शिप्रिमी दवा के इस्तमाल के लिए ट्रेनिंग दी जायेगी वही मरीजो की ओर से सहमती का एक फॉर्म भरना होगा.

 

साथ ही पोस्ट मार्क के सर्वेलांस के अतरिक्त शिप्ला  मरीजो पर चोथे चरण का क्लिनिकल ट्रायल भी करेगी शिप्ला को ड्रग कान्सोनल जर्नल ऑफ़ इंडिया के जरिये दवा पेश करने की अनुमति भी मिल गयी थी.

 

जिसके बाद शिप्ला ने शिप्रिमी के नाम से इस दवा को पेश किया है covid-19 के गंभीर मरीजों के उपचार के लिए इस दवा का इस्तमाल किया जाता है|

 

कोरोना से जितने के लिए राज्य अपनाएंगे 3T फार्मूला

संक्रमण बढ़ने के साथ ही कोरोना से लड़ाई और तेज़ हो गयी है राज्य सरकारों ने कोरोना महामारी से लोगो को बचाने के लिए अब 3T फार्मूला तैयार किया है  टेस्टिंग ट्रेसिंग और ट्रीटमेंट का फार्मूला अपनाते हुए कई राज्य सरकारें दो गुना तीन गुना तक टेस्टिंग कर रही हैं.

 

अस्पतालों में बेड बढाये गये हैं साथ ही गंभीर मरीजों को खोज कर उनका इलाज भी किया जा रहा है मरीजो के संपर्क में आये लोगो की तलास के लिए कर्नाटक का modal बनाया गया है.

 

मरीजों की बढती संख्या को देखते हुए मुंबई की बाइकुला में 1000 बेड का अस्पताल बनाया गया है बेड में आ रही समस्या को दूर करने के लिए सरकार टेली आइस की सुविधा सुरु करने जा रही है.

 

इसके माध्यम से मरुजो की हालत जानने के बाद उन्हें बेड उपलब्ध करवाए जायेंगे इसी तरह की कुछ तेज़ी उन राज्यों में भी दिखाई दे रहीं हैं जहा कोरोना तेज़ी से अपने पैर पसार रहा है|

 

विटामिन-डी की कमी बनी कोरोना से मौत की वजह

कोरोना वायरस की वजह से पूरी दुनिया में कोहराम मचाया हुआ है लोगो को जागरूक किया जा रहा है की अगर इम्यून सिस्टम ठीक है तो इस वायरस से बचा जा सकता है इसको ले कर भी कई प्रकार की जानकारियां साझा की जा रही हैं.

 

अब एक रिसर्च में दावा किया गया है की विटामिन डी कोरोना वायरस से लड़ने में कार्यगर है अब हाल ही में डेली मेल में प्रकाशित एक study में पाया गया है की कोरोना वायरस की वजह से मरने वालों की संख्या में 99 फीसदी वो लोग हैं जिनकी शरीर में विटामिन डी की कमी थी.

 

दरअसल इंडोनेशिया के रिसर्चर ने अस्पताल में 780 covid-19 संक्रमित मरीजों पर ये रिसर्च किया है रिजल्ट में पाया गया की 98.99 प्रतिशत संक्रमित मरीजों में विटामिन डी की कमी थी जिसमे विटामिन डी का स्तर सबसे कम था.

 

जिसकी वजह से वो कोरोना से जीत नहीं पाए और अपनी जान गवा दी वाही जिन मरीजो पर विटामिन डी पर्याप्त मात्रा में था उनकी मौत का आंकड़ा सिर्फ 4.1 % था इस study से ये साबित होता है की सूरज की रौशनी कोरोना वायरस में जीवन रक्षक का काम कर सकती है|

 

55 फीसदी पंहुचा कोरोना से ठीक होने वालो का आंकड़ा

दिल्ली में covid-19 के मरीजो के recovry रेट 55 % तक पहुच गया है पिछले 4 दिनों में कोरोना मरीजो के recovry रेट में 18 % का उछाल आया है और पहली बात दिल्ली में मरीज एडमिट हैं उससे कही ज्यादा मरीजो ने इस वायरस को मात देने में सफलता हासिल कर ली है.

 

पिछले 4 महीने में जितने मरीज़ ठीक नहीं हुए लगभग उतने मरीज़ 4 दिनों में recover हो कर अपने घर पहुच गये हैं recovry रेट में ये सुधार निश्चित रूप से राजधानी के लोगो के लिए बड़ी राहत की बात है.

 

17 जून तक दिल्ली में कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 47 हजार के आस पास थी इस दिन तक दिल्ली में कुल 17 हजार 457 मरीज recover हुए थे लेकिन 18 जून से लेकर 21 जून के बीच कुल 15 हजार 156 मरीज ठीक हुए.

 

जब की मार्च से ले कर 17 जून के बीच केवल 17457 मरीज ही ठीक हुए थे लेकिन अगले 4 दिनों में 15,156  मरीजो के ठीक होने की वजह से अवसत में भी भारी सुधार हुआ है इससे पता चलता है की कोरोना वायरस थोडा कमजोर हुआ है|

 

बिल्डर ने क्वारंटीन सेंटर बनाने के लिए सौंपी बिल्डिंग

महारास्ट्र में जानलेवा कोरोना वायरस का कहर जारी है यहाँ कोरोना संक्रमित लोगो की संख्या 1 लाख 88 हजार के पार पहुच गयी है राज्य में कोरोना के 60 फीसदी से ज्यादा के केस सिर्फ मुंबई से सामने आये हैं.

 

मुंबई में कोरोना के हालत को देखते हुए आम लोग भी मदद के लिए आगे आ रहे हैं यहा एक मेहुल सिंघनी नाम के बिल्डर ने अपने नये बने 19 मंजिला बिल्डिंग को BMC को सौप दिया है.

 

BMC ने इस बिल्डिंग में कोरोना के मरीजों को शिफ्ट करना सुरु कर दिया है बताया जा रहा है की इस बिल्डिंग में 30 मरीजो को शिफ्ट किया जा चूका है आप को बता दे की इस बिल्डिंग में 130 फ्लैट्स हैं जिसमे हर एक फ्लैट में 4 कोरोना मरीजो को रखा गया है|

 

कोरोना पर जल्द ही मिलेगी अच्छी खुशखबरी हेल्लो दोस्तों हमारी आज के इस लेख के माध्यम से आप ने जाना की दुनिया भर के वैज्ञनिक कैसे अपनी दिन रात की मेहनत से कोरोना वैक्सीन बनाने की कोसिस में जुटे हुए हैं

और हर इन्सान अपनी तरफ से पूरी कोशिस कर रहा है की कोरोना से संक्रमित लोगो की अच्छी से अच्छी देखभाल की जाए और उन्हें जल्द से जल्द अपने घर भेजा जा सके मिलते है अगली पोस्ट में तब तक के लिए नमस्कार !

Leave a Comment