कोरोना के बारे मे सही और पूरी जानकारी हिन्दी मे

कोरोना क्या है : कोरोना एक प्रकार का ऐसा सूक्छ्म जीवाडु है जो मानव के शरीर के अंदर उनके फेफड़ो को प्रभावित करता है और जिनका एमिनिउटी सिस्टम सही नहीं रहता है यह उनकी जान तक ले लेता है इस बात से आप  लोगो को इतना तो अंदाजा लग ही गया होगा कि यह कोरोना नामक बीमारी कितनी घातक है .

वैसे तो दुनिया भर के साइंटिस्ट इस जानलेवा बीमारी कि खोज कर रहे है और उम्मीद है कि इसका इलाज जल्द ही हमारे और आप के बीच मे होगा और अगर ऐसा नहीं हुआ तो यह बीमारी हम सब को एक न एक दिन अपने चपेट में ले लेगी.  लॉकडाउन 4.0 में क्या खुलेगा और क्या रहेगा बंद 

 

दुनिया भर में कोरोना से मरने वालो की सख्या 310801 हो गयी है जो की एक बहोत बड़ी संख्या है हाला की इसका इलाज पूरी तरह से अभी तक संभव नहीं हुआ है

विश्व स्वस्थ संगठन(WHO) ने कोरोना के चार चरण बताये है और यह भी समझाया है की किस तरह यह चरण दर चरण इस बीमारी का फैलना पूरी दुनिया के लिए कितना घातक हो सकता है

 

चरण 1 : विदेशो से आये मामले

विदेशो से आये मामले पहले चरण की बात की जाए तो व्यक्ति विदेशो से प्रभावित हो कर आता है और आप को बता दे की भारत में भी इस बीमारी की सुरुआत एसे ही हुई थी भारत में कोरोना का पहला मरीज चीन के वुहान यूनिवर्सिटी में पड़ता था जो की केरल का रहने वाला था.

इसके बाद भी जितने केस भारत में सामने आये थे वो सभी इटली,चीन,या ईरान से लौटे हुए थे जो की कोरोना प्रभावित थे यही वजह है की भारत में भी इस बीमारी की सुरुआत हो गयी |

चरण 2 : स्थानीय लोगो में प्रभावित  

स्थानीय लोगो में प्रभावित  यह बात तो आप सभी लोग जानते होंगे की भारत अभी दुसरे चरण में है और बाहर से आये मरीज प्रभावित फैला रहे है भारत में इस प्रभावित को रोकने के लिए भारत सरकार ने पुरे भारत में लॉक डाउन घोषित किया हुआ है और जो प्रभावित पाए जा रहे है.

उनको हॉस्पिटल में एडमिट कराया जा रहा है और उन्होंने कहा कहा यात्रा की और वो किन किन लोगो से मिले उनकी पुष्टि कर उनका पता लगाया जा रहा है

चरण 3 : कमुनिटी के बीच प्रभावित

कमुनिटी के बीच प्रभावित आप को बता दे की यह चरण इतना घातक है की इसमें भीड़ से भरी जगहों पर यह बीमारी बड़ी आसानी से फ़ैल जाती है इटली तीसरे चरण में आ चूका है इस लिए वहा पर इस बीमारी को काबू नहीं किया जा पा रहा है और यह बात भारत सरकार भी अच्छी तरह जानती है .

अगर भारत तीसरे चरण में पहुच गया तो इस बीमारी को काबू में नहीं किया जा सकता है इस लिए भारत सरकार अभी लॉक डाउन को खोलने के बारे में कोई विचार नहीं कर रही है क्यू की इस चरण में यह पता लगाना बहुत मुश्किल हो जाता है कि भीड़ में मौजूद किस व्यक्ति को प्रभावित है अथवा नहीं है

चरण 4 : महामारी  

महामारी अगर कोई देश इस चौथे चरण में आ जाता है तो इस महामारी को काबू में करना बहुत मुश्किल हो जाता है या फिर यह कह सकते है की इस महामारी को नहीं रोका जा सकता इटली ईरान अमेरिका जैसे ताकत वर देश इस चौथे चरण के काफी करीब है और इन देशो में इमरजेंसी लागु कर हालात को काबू में किया जा रहा है

किन किन लोगो को करना चाहिए कोरोना की जाच

जैसा की आप सभी को पता है की भारत सरकार ने हाल ही में बाहार फसे कुछ मजदूरों को घर वापसी के लिए कुछ ट्रेने चलवाई है उन मजदूरों को सफ़र के बाद 14 दिन के आइसोलेसन पर रखना अनिवार्य है हाला की उनकी स्क्रीनिंग कर के इनको बुलाया जा रहा है.

लेकिन इसके बाद भी 14 दिनों के लिए उनको आइसोलेसन पर रखा जा रहा है और अगर किसी कारण वस उनकी जाँच नहीं हो पाई हो तो उनको जा कर कोरोना की जाँच करवाना चाहिए इससे उनके घर वाले सुरझित रहेंगे .

भारत सरकार के नियम के अनुशार जो लोग अभी चीन ,इटली ,अमेरिका ,ईरान जैसे देशो से भारत लौट रहे है वे भी अपनी जाँच जरुर करवाएं और अगर वो कोरोना प्रभावित पाए जाते है तो वो जिन जिन के संपर्क में आये है उन लोगो को भी अपनी जाँच जरुर करवाना चाहिए इससे देश सुरछित रहेगा और हम आप भी सुरछित रहेंगे |

कोरोना के लक्षण

 

 

  • तेज बुखार आना : अगर किसी व्यक्ति को सुखी खासी के साथ तेज बुखार आ रहा है तो उसको अपनी जाच जरुर करवाना चाहिए. यदि आप का तापमान 37.7 डिग्री सेल्सियस या इससे अधिक है तो यह चिंता का विषय है.

 

  • कफ और सुखी खासी : अगर व्यक्ति को सुखी खासी आती है और साथ में कफ भी है तो उस व्यक्ति के कोरोना 90% तक हो सकता है.

 

  • सांस लेने में परेशानी : अगर कोई व्यक्ति कोरोना से सक्रमित हो गया है तो उस व्यक्ति को 5 दिनों के अन्दर सांस लेने में परेशानी होना सुरु हो जाती है .

 

  • फ्लू कोल्ड जैसे लक्षण : विश्व स्वस्थ संगठन (WHO) के अनुसार कोरोना वायरस से प्रभावित होने पर फ्लू और कोल्ड जैसे लक्षण भी हो सकते है.

 

  • डायरिया और उल्टी : डोक्टारो का कहना है की कोरोना प्रभावित व्यक्ति को डायरिया और उल्टी के लक्षण भी पाए गए है.

 

  • सूंघने की क्षमता : कोरोना प्रभावित व्यक्ति की सूंघने की क्षमता ख़त्म हो जाती है.

 

  • स्वाद की क्षमता : कोरोना प्रभावित व्यक्ति की स्वाद की क्षमता को भी कम होते देखा गया है.

 

कोरोना से बचाव

 

  • अपने हाथो को दिन में कई बार साबुन से अच्छी तरह 20 सेकंड तक साफ़ करे.

 

  • किसी से ज्यादा मेल जोल न बनाये सामाजिक दुरी बना कर रखे.

 

  • मार्केट से आने के बाद अपने हाथो को साबुन से धोये या हो सके तो नाहा ले और मार्केट से लाये हुए सामान को भी साबुन से अच्छी तरह धो ले.

 

  • हमेशा खासते व छीकते समय अपने मुह में रुमाल या अपनी कोहनी को रख कर छीके.

 

  • घर से बहार निकलते समय मास्क का इस्तमाल करे.

 

 

 

 

3 thoughts on “कोरोना के बारे मे सही और पूरी जानकारी हिन्दी मे”

Leave a Comment