KGF Movie Full Form KGF क्या है KGF की सुरुआत कब और कैसे हुई

KGF Movie Full Form KGF क्या है KGF की सुरुआत कब और कैसे हुई : हेल्लो दोस्तों आप लोगो ने KGF movie जरुर देखि होगी और जिन लोगो ने नहीं देखी है उन लोगों को एक बार जरुर देखनी चाहिए और रही kgf movie hindi download करने की बात तो इसे आप youtube पर आसानी से देख सकते हैं और इसके लिए आपको एक रूपए भी खर्च करने की जरूरत नहीं है.

अब आते हैं हमारे टॉपिक पर की what is the full form of kgf क्या है KGF movie full form क्या है KGF क्या है और इसकी सुरुआत कब और किसने की, यह सब जानने से पहले आपको एक बात पता होनी चाहिए की KGF movie में जिस KGF के बारे में बताया गया है वो कोई काल्पनीक नहीं है बल्कि kgf real story है.

हालाकि KGF movie में जितने भी सीन दिखाए गये हैं वो सभी रियल नहीं हैं लेकिन KGF की जो खदान के बारे में दिखाया गया है वो एकदम रियल है और KGF movie एक सच्ची घटना पर आधारित हैं तो चलिए KGF movie full form के बारे में जानते हैं की इसकी सुरुआत कब और किसने की थी|

KGF Full Form क्या है

KGF Full Form: Kolar Gold Fields : कोलार सोने का खेत

K : Kolar

G : Gold

F : Fields

दोस्तों KGF को Kolar Gold Fields यानी कोलार सोने का खेत इसलिए कहा जाता है क्युकी इस जगह 1880 से लेकर 2001 तक  800 टन सोना जमीन के अंदर से निकाला गया था जिसे की माइनिंग  करके निकला गया था और दोस्तों आपको बता दें की जब यह सोना जमीन के अंदर मिला तो यहाँ पर सोना चूरे के रूप में था तो इसे निकालने में काफी मेहनत भी करनी पड़ती थी|

Virus Full Form 

 

KGF क्या है

दोस्तों KGF  दुनिया की एक मात्र ऐसी जगह है जहा से सबसे ज्यादा मात्रा मे सोना निकाला गया था KGF यानि kolar gold fields सन 1880 से लेकर सन 2001 तक सोने की माइनिंग की गई बाद मे सरकार के द्वारा इसे बंद करवा दिया गया क्यूकी इस kolar gold fields मे माइनिंग कर रहे मजदूरो की सबसे ज्यादा जान जाती थी.

इसके साथ ही आपको बता दें की KGF मे जो सोना निकलता था वो एक चुरे के रूप मे निकलता था जिससे माइनिंग करने मे काफी दिक्कत आती थी जिस वजह से यहा पर माइनिंग करने के लिए बड़ी बड़ी मशिने लगाई गई थी|

 

KGF का इतिहास क्या है

Kolar gold fields यानि KGF इस फिल्म को अपने जरूर देखा होगा इस फिल्म की कहानी kolar खदान के बारे मे है और आज बहुत से लोगो के मन मे कुछ सवाल हैं जोकि लोग इंटरनेट मे सर्च करते हैं की क्या सच मे कोलार की खदान की बात सच है या यह सिर्फ एक कल्पना है.

दोस्तो आपको बता दें की सदियों से लाकर आजतक Kolar gold fields मौजूद है और इस लेख मे हम आपको बताएँगे Kolar gold fields से जुड़े रील नहीं बल्कि kgf real story और दिलचस्प जानकारी जिसके बारे मे जानकार आपके पैरो तले जमीन खिसक जाएगी.

कर्नाटक के बैंगलुरु से लगभग 100 किलोमीटर दूर कोलार गोल्ड फील्ड स्थित है जो भारत की सबसे पुरानी सोने की खान है या इतनी पुरानी है की यह सिंधु घाटी सभ्यता से लेकर ब्रिटिस हुकूमत और आज़ाद भारत तक को भरपूर सोना देती रही.

यहा से 1880 से 2001 के बीच यानि 121 सालो मे लगभग 800 टन सोना निकाला जा चुका है कोलार गोल्ड फील्ड मे बहुत से सासक देखे, ऐतिहासिक उल्लेख बताते हैं की यहा प्रथम शताब्दी से ही अलग अलग समय मे सोने की खुदाई होती रही है.

पहले गंगास फिर 900 ईस्वी से 1000 ईस्वी के बीच चोला साम्राज्य 13वी और 16वी सदी तक विजय नाग्र साम्राज्य फिर मराठा से लेकर हैदराबाद निज़ाम और हैदर अली का शासक समलित है.

दुनिया के कुछ ऐसे रहस्य जिसे जान कर आपके रौंगटे खड़े हो जायेगें

उसके बाद अंग्रेज़ शासक ने भी कोलार की खानो से सोना निकाला, सदियो तक KGF से दक्षिण भारत के शासको को भारी मात्रा मे धन की प्राप्ति हुई या भारत के सबसे गहरे खदानों मे से एक है जहा 1980 और 1990 के दशको मे धरती की सतह से तीन किलोमीटर नीचे खुदाई होती थी.

केवल दक्षणी अफ्रीका के कुछ खदाने ही इससे ज्यादा गहरी हैं 19वी सदी के अंतिम वर्षो मे ब्रिटिस खनन कंपनी जॉन टेलर ने खुदाई कार्ये का जिम्मा लिया और खुदाई करने के लिए बड़ी बड़ी मशीने लगाई गई.

जिनको चलाने के लिए बिजली की जरूरत थी और 1902 के दशक मे इस खदान मे बिजली आई तब सिर्फ एशिया मे जापान के टोकियो शहर मे ही बिजली हुआ करती थी.

यहा भारत का पहला और सबसे पुराना हाइड्रो इलैक्ट्रिक प्लांट है जिसका नाम कावेरी इलैक्ट्रिक पावर प्लांट रखा गया था जब इस प्लांट से बिजली का उत्पादन होना सुरू हुआ तो वो जरूरत से ज्यादा बिजली पैदा कर रहा था इसलिए इसकी बिजली को आस पास के शहरो को दिया गया.

और यह देश का पहला ऐसा शहर बना जहा सबसे पहले बिजली मिली थी इतनी अधिक गहराई मे खुदाई के लिए और विशेष उपकरण की आवश्यकता होती है इसलिए KGF मे 1940 के दशक मे मेंजेस्टर इंग्लैंड मे बना विश्व का सबसे बड़ा ड्रम लगाया गया.

ब्रिटिश शासन मे बहुत सारे ब्रिटिश और एंग्लो इंडियन रहा करते थे जिससे इन्हे little England भी कहा जाता था क्यूकी यहा का रहन सहन घर और वातवरण इंग्लैंड से मिलता जुलता था एंग्लो इंडियन उनको कहा जाता था जो होते तो ब्रिटिश हैं लेकिन उनका जन्म भारत मे हुआ.

भारत की आज़ादी के बाद 1956 मे इन खदानों का राष्ट्रीय करण हो गया 1970 मे BGML (Bharat Gold Mines Limited) ने इन खदानों का नियंत्रण अपने हाथो मे लेलिया लेकिन सुरुवात मे सफलता पाने के बाद भारी भरकम स्टाफ सहित कई कारणो के चलते कंपनी का फ़ायदा दिनों दिन घटता चला गया.

और 1989 आते आते स्थिति यह हो गयी की कंपनी पर चड़े कर्ज का आंकड़ा इसकी संपत्ति से ज्यादा हो गया बाद मे इसे दिवालिया घोषित कर दिया गया और छटनी करके इसके स्टाफ को 8880 से 3500 कर दिया गया.

लेकिन इससे भी बात नहीं बनी और 2001 मे BGML ने काम बंद कर दिया तब से कर्मचारी अदालतीय लड़ाई लड़ रहे हैं और करीब 13000 एकड़ मे फैला kolar gold fields किसी भूतहा कस्बे जैसा हो गया है.

2016 मे नरेंद्र मोदी सरकार ने KGF की नीलामी की घोषणा की इसलिए लगता है की दक्षिण भारत के प्रथम विधुत कृत शहर जो अभी भूतहा शहर के चक्र मे है इसका भाग्य एक बार दुबारा खुल सकता है.

Best Hosting in India Blogging के लिए अच्छी और सस्ती Hosting कौन सी है

माना जाता है की कोलार मे अभी भी काफी सोना मौजूद है अब सोने की कीमत तब की तुलना मे करीब 5 गुना बड़ गयी है इन खदानों का खुलना इस लिहाज से भी अहम है की देश मे लगातार बड़ रही सोने की मांग का कुछ हिस्सा इससे भी पूरा हो सकता है.

आपको बता दें की खुदाई मे निकले मलबे मे 30 मीटर उची हील्स बन गयी है इसके गठिन के प्रकृति के कारण इसपर पौधे नहीं उग रहे हैं ये पहाड़ी शहर और खदानों का एक लुभावना दृश प्रदान करती है.

Silicosis जोकि एक फेफड़ो की बीमारी है जोकि खनन के कारण पैदा होती है और इससे बहुत से मजदूरो की जान भी जा चुकी है और आपको बता दें की यह बीमारी पहली बार KGF मे ही पहचानी गयी थी.

इस खदान से कुछ दूरी पर कोटी लिंगेस्वर मंदिर स्थित है जहा भगवान भोले नाथ का एक विशाल शिवलिंग है और जिसके चारो ओर करीब करीब एक करोड़ छोटे शिवलिंक मौजूद हैं|

 

आज के इस लेख से अपने क्या सीखा

दोस्तो आज के इस लेख से अपने सीखा की KGF meaning क्या है KGF movie full form क्या है KGF full form क्या है इसके साथ ही आपने KGF के पूरे इतिहास के बारे मे भी जाना है.

उम्मीद है की आपको हमारे द्वारा लिखे गये इस आर्टिकल से जरूर कुछ नया और अच्छा सीखने को मिला होगा और अगर आपको इस आर्टिकल से कुछ अच्छा सीखने मिला है तो आप हमे कमेंट करके जरूर बताएं.

इसके साथ ही आप इस आर्टिकल को अपने दोस्तो और रिसतेदारों को भी जरूर शेयर करे जिससे उन्हे भी कुछ अच्छा और नया सीखने मिले हम मिलते हैं आपसे अगली पोस्ट मे तब तक के लिए नमस्कार|

Leave a Comment