Mangal Grah Per Maujud Hai Oxygen | मंगल ग्रह पर मौजूद है ऑक्सीजन ?

Mangal Grah Per Maujud Hai Oxygen दोस्तों पुरे ब्रम्हाण्ड में हमारी पृथ्वी ही एक मात्र ऐसा ग्रह है जिसपर फ़िलहाल जीवन संभव है लेकिन पिछले कुछ सालों से वैज्ञानिक दुसरे ग्रहों पर जीवन की संभावनाओं की तलाश कर रहे हैं.Mars

 

जैसे जैसे विज्ञानं आधुनिक होता जा रहा है वैज्ञानिको की यह तलाश भी तेज़ होती जा रही है और कई सालों से ये तलाश चल रही है लेकिन आज तक वैज्ञानिको को इस काम में सफलता नहीं मिली है.

 

इन सभी के बिच वैज्ञनिको को मंगल ग्रह पर कुछ ऐसा मिला जिससे की वहा जीवन होने की कुछ संभावना होती दिखाई देती है लेकिन क्या सच में मंगल ग्रह पर जीवन बसाया जा सकता है क्या मंगल ग्रह में ऑक्सीजन है|

 

क्या सच में मंगल ग्रह पर जीवन बसाया जा सकता है

ऐसे ही बहुत से सवाल हमारे और आप के दिमाक में उठते रहते हैं वैज्ञनिको ने मंगल ग्रह पर ऑक्सीजन होने की बात बताई है लेकिन उसके साथ ही ऑक्सीजन से जुड़ा काफी गहरा रहस्य भी मंगल ग्रह से जुड़ा हुआ है.

 

ये रहस्य इतना गहरा है की मंगल ग्रह पर एलियन होने के बाद भी लोगो के दिमाक में आने लगती है मंगल ग्रह पर जीवन संभव है या नहीं इसे समझने के लिए पहले ये समझते है की फ़िलहाल मंगल ग्रह पर क्या चल रहा है|

 

मंगल ग्रह पर ऑक्सीजन और बर्फ का पता चला

वैज्ञानिको ने मंगल ग्रह पर अबतक कहा कहा पर क्या क्या खोज लिया है शायद आप लोगो में से बहुत कम लोगो को ही पता होगा लेकिन वैज्ञानिको ने मंगल ग्रह पर ऑक्सीजन का पता लगा लिया है यानि मंगल ग्रह पर ऑक्सीजन मौजूद है.

 

इसके साथ ही बड़ी मात्रा में मंगल ग्रह पर बर्फ भी मौजूद है और अध्यन से यह भी सामने आया है की जब इन ग्रहों का निर्माण हुआ था तो उस समय मंगल ग्रह पर वह सभी चीज़े मौजूद थी जो की एक इंशान के रहने के लिए जरुरी होती हैं.Mangal Grah Per Maujud Hai Oxygen 

 

रिसर्च में कहा गया है की वहा पर हरियाली भी हुआ करती थी मंगल ग्रह पर ऑक्सीजन तो मौजूद है लेकिन वैज्ञानिक अब तक इस बात का पता नहीं लगा पाए हैं की मंगल ग्रह पर ऑक्सीजन कहा से आई और कैसे आई है  .

 

वैसे वहा पर ऑक्सीजन कैसे आई ये बात साफ़ नहीं है ऐसे में एक सवाल उठता है की क्या जब मंगल ग्रह का निर्माण हुआ था तभी से वहा ऑक्सीजन मौजूद थी इस सवाल का जवाब है हा,

 

 

मंगलग्रह पर कौन से गैस कितनी मात्रा में है

मंगल ग्रह पर सुरु से ही ऑक्सीजन की मौजूदगी रही है अध्यन से पता चलता है की मंगल ग्रह पर 95% मात्रा Carbon Dioxide, 2.6% मात्रा Nitrogen, 1.9% मात्रा Aegon, 0.06% मात्रा Carbon Monoxide और 0.56% मात्रा Oxygen की है|Mangal Grah Per Maujud Hai Oxygen 

 

पृथ्वी पर कौन से गैस कितनी मात्रा में है

जब हम इन गैसों की मात्रा की तुलना पृथ्वी पर मौजूद गैसो से करते है तो इन दोनों में काफी अंतर देखने को मिलता है पृथ्वी पर 78.09% Nitrogen, 20.95% Oxygen, 0.93% Argon, 0.04 % carbon Dioxide है.

 

इस तरह ये साफ है की पृथ्वी की गैसों और मंगल ग्रह पर मौजूद गैसों के स्तर में काफी अंतर है इस लेख में अब तक आप समझ गये होंगे की ऑक्सीजन हमेशा से ही मंगल ग्रह पर रही है.

ऐसे में आप सोच रहे होंगे की वैज्ञनिको के लिए वहा जीवन बसाने में क्या दिक्कत आ रही है वैज्ञनिको के लिए ऑक्सीजन का वहा होना चुनौती नहीं बल्कि मंगल ग्रह पर ऑक्सीजन का बेवहार वैज्ञानिको के लिए समस्या खड़ी करता है|

 

गैसों की मात्रा में होते हैं उतार चढ़ाव

दरअसल यहा ऑक्सीजन के बेवहार का मतलब मंगल ग्रह पर गैसों की मात्रा में लगातार उतार चढ़ाव से है जिस तरह हमारी पृथ्वी पर मौजूद गैसों की मात्रा में बेहद कम ही सही लेकिन उतार चढ़ाव होते रहते है.Mangal Grah Per Maujud Hai Oxygen 

 

उसी तरह मंगल ग्रह पर भी उतार चढ़ाव होते रहते है मंगल ग्रह पर मौसम बदलने से वह गैसों की मात्रा में कमी या अधिकता हो जाती है ठंढ के मौसम में मंगल ग्रह पर हवा का दबाव काफी कम हो जाता है.

 

लेकिन जैसे ही मौसम में बदलाव होते हैं और वहा गर्मी बढती है तो हवा का दबाव काफी बढ़ जाता है बसंत ऋतू में भी कुछ ऐसा ही देखने को मिलता है जब मौसमो में बदलाव के साथ वहा उपलब्ध गैसों की मात्रा कम ज्यादा होती है.

 

तो उसमे Nitrogen और Argon के स्तर में हर साल लगभग एक जैसा ही बदलाव होता है लेकिन ऑक्सीजन में ऐसा देखने को नहीं मिलता है बसंत ऋतू और गर्मी के मौसम में ऑक्सीजन की मात्रा 30% तक बढ़ जाती है.

 

ऑक्सीजन की मात्रा में यह बदलाव लगभग हर एक सीजन में देखने को मिलता है हलाकि ऑक्सीजन की मात्रा में ये बदलाव कब से और किस तरह से हो रहा है इस बारे में वैज्ञानिको के पास कोई ठोस जवाब नहीं है|

 

NASA के वैज्ञानिक भी हैं चिंतित

वैज्ञानिक खुद इस बात को ले कर चिंता में हैं वैज्ञानिक अब तक इस बदलाव के बिलकुल सटीक कारणों क पता नहीं लगा पाए हैं इसी विषय में NASA के एक वैज्ञानिक ने बात करते हुए कहा था की यह बदलाव हर साल होते हैं.Mangal Grah Per Maujud Hai Oxygen 

 

लेकिन अलग अलग सालों में ये बदलाव एक समान नहीं रहता उनका मानना है की इस बदलाव के पीछे जरुर कोई न कोई कैमिकल रिएक्सन है लेकिन अब तक वैज्ञानिक उस कैमिकल रिएक्सन के बारे में पता नहीं लगा पाए हैं.

 

मंगल ग्रह पर ऑक्सीजन के आलावा मीथेन गैस के स्तर में भी मौसम के साथ अप्रत्याशित बदलाव देखने को मिलते हैं यू तो मंगल ग्रह पर मीथेन गैस नहीं है लेकिन गर्मी के मौसम में मीथेन गैस की मात्रा मंगल गृह पर 60% तक हो जाती है.

 

लेकिन जैसे ही मौसम में बदलाव होता है धीरे धीरे मीथेन गैस की मात्रा कम होने लगती है यहाँ तक की एक समय ऐसा आता है जब मीथेन गैस बिलकुल समाप्त हो जाती है तब मशीनों के मदद से भी इसकी उपस्थिति का पता लगाना असंभव हो जाता है.

 

इस तरह हम देखते हैं की मीथेन और ऑक्सीजन दो ऐसी गैसे हैं जिनकी मात्रा में मंगल ग्रह पर मौसम के साथ बदलाव देखने को मिलता है लेकिन यह बदलाव क्यों और कैसे होता है.

 

इसका ठोस जवाब वैज्ञनिको को आज तक नहीं मिला है आज भी इन अनसुलझे बदलावों को समझने के लिए वैज्ञनिक मंगल ग्रह पर मीथेन और ऑक्सीजन के बीच सम्बन्ध खोजने की कोशिसों के बीच में लगे हुए हैं. Mangal Grah Per Maujud Hai Oxygen 

 

हेलो दोस्तों आज के हमारे इस लेख में आप लोगो ने यह जाना की मगल ग्रह पर ऑक्सीजन मौजूद है या नही अगर आप लोगो ने इस पोस्ट को अच्छी तरह से पढ़ा होगा तो आप को इस पोस्ट में लिखी पूरी जानकारी मिल गयी होगी मिलते है ऐसी ही किसी और पोस्ट में तब तक के लिए नमस्कार !

Leave a Comment