What Is Mouse And Types Of Mouse | माउस क्या होता है और कितने प्रकार के होते हैं

Computer mouse types and Functions in hindi दोस्तों इस लेख में हम आप लोगो को बतायेंगे माउस के बारे में की Mouse क्या होता है माउस के पार्ट्स कौन कौन से होते हैं और Mouse के क्या क्या काम होते हैं तो चलिए बिना टाइम गवाए स्टार्ट करते हैं दोस्तों सबसे पहले हम बात करते हैं की माउस होता क्या है.

 

Mouse क्या है

Mouse एक input डिवाइस है वो Computer के स्क्रीन के Pointer या Cursor को Control करता है इस Pointer के जरिये हम Computer के अन्दर File Folder और दुसरे सभी आइटम को खोले बंद करने एक जगह से दुसरी जगह ले जाने उनकी जानकारी लेने में इस्तमाल करते हैं.

 

इन सभी काम को करने की वजह से इसे Pointing डिवाइस भी कहा जाता है कोई भी Computer यूजर इसका इस्तमाल कर के Computer को instruction देता है की क्या काम करना है इस तरह ये यूजर और Computer के बीच एक इंटर फेस की तरह काम करता है हम Computer के हर एक हिस्से में इसकी मदद से जा सकते हैं|

 

Mouse के पार्ट्स

  • बटन
  • व्हील
  • Ball, LED या Lesar
  • सर्किट बोर्ड
  • केबल या वायर लेस रिसीवर

 

बटन Key

Mouse का सबसे पहला part होता है उसकी बटन हर एक माउस में कम से कम 2 बटन तो जरुर होते हैं एक Left और एक Right जिसकी मदद से हम Computer में input देते हैं.

 

व्हील Wheel

माउस का दूसरा part होता है वील आज कल के desktop Mouse में वील जरुर लगा हुआ होता है जिसे हम Computer में खुले किसी भी विंडो में या पेज में स्क्रौल या स्क्रौल डाउन यानि की पेज को उपर नीचे आसानी से कर सकते हैं|

 

Ball, LED या Lesar

माउस का तीसरा part होता है Ball, LED या Lesar इसके अलग अलग types में बॉल या रोलर का इस्तमाल किया जाता है जिसे नॉर्मली हम माउस के नाम से भी जानते हैं जिस तरह के माउस में लेज़र या LED का इस्तमाल किया जाता है.

 

उन्हें हैं obtical Mouse के नाम से जानते हैं इन रोलर और LED की वजह से ही हमे Mouse Pointer को ट्रैक करने में मदद मिलती है|

Read More:

 

सर्किट बोर्ड 

Mouse का चौथा part है सर्किट बोर्ड, सर्किट बोर्ड माउस के अन्दर लगा हुआ होता है माउस के द्वारा किये जाने वाले क्लिक इसकी एक्टिविटी की इनफोर्मेसन को Computer में input करने के लिए एक सर्किट बोर्ड होता है जो की ingrated सर्किट के इस्तमाल से बनता है|

 

केबल या वायर लेस रिसीवर

Computer से कनेक्ट करने के लिए Mouse में वायर दिया जाता है आज कल के ज्यादा तर माउस में केबल कनेक्टिविटी के लिए USB पोर्ट दिया होता है अगर आप वायर लेस Mouse का इस्तमाल करते हैं तो इसके लिए आप को वायर लेस port की जरुरत होती है|

 

Mouse 5 प्रकार के होते हैं

  • मैकेनिकल माउस
  • ओप्टिकल माउस
  • वायर लेस माउस
  • ट्रैक बॉल माउस
  • स्टाइलेस माउस

 

मैकेनिकल Mouse

मैकेनिकल Mouse का आविष्कार सन 1972 में बिलिंग लेस ने किया था मैकेनिकल Mouse instruction के लिए एक बॉल का इस्तमाल करता था इसलिए इसे हम बॉल माउस भी कहते हैं इस बॉल को left, right, up, dawn घुमाया जा सकता था|

 

ओप्टिकल Mouse

ओप्टिकल माउस LED और DSPT डिजिटल सिग्नल प्रोसेसिंग टेक्निक पर काम करता है इस माउस में कोई भी बॉल नहीं होती है इसकी जगह पर एक छोटा सा बल्ब लगा होता है इस लिए Mouse को हिलाने पर हमारे Computer का Pointer हलचल करता है.

 

और इसमें मौजूद बटन के द्वारा हम Computer को instructions देते हैं आज कल इसी तरह के माउस का इस्तमाल होता है इन्हें एक तार के द्वारा Computer से जोड़ा जाता है जो इसे इलेक्ट्रिसिटी की आपूर्ति भी करती है ओप्टिकल Mouse इस्तमाल में काफी आसान होते हैं|

 

वायर लेस Mouse

वायर लेस Mouse बिना तार का माउस वायर लेस Mouse कहलाता है इसे कौड्लेस माउस भी कहते हैं ये माउस रेडिओ फ्रीक्वेंसी यानि RF टेक्निक पर आधारित होता है मगर इसकी बनावट ओप्टिकल Mouse की तरह ही होती है इस लिए इसका इस्तमाल करने के लिए एक ट्रांसमीटर और रिसीवर की जरुरत होती है.Types Of Mouse

 

ट्रांसमीटर तो माउस में ही बना होता है और रिसीवर को अलग से Computer में लगाया जाता है इस माउस को चलाने के लिए बैटरी की जरुरत पड़ती है इस लिए हमे अलग से छोटी बैटरी खरीदनी पड़ती है|

 

ट्रैक बॉल Mouse

इस माउस की बनावट भी कुछ ओप्टिकल माउस की तरह होती है मगर इसमें Control करने के लिए ट्रैक बॉल का इस्तमाल किया जाता है Computer को instructions देने के लिए यूजर को अपनी ऊँगली ये अंगूठे से बॉल को घुमाना पड़ता है ये Mouse हमे ज्यादा Control नहीं देता है और इसे चलाने में भी काफी समय लगता है|

 

स्टाइलेस Mouse

इस तरह के माउस को जीस्टिक माउस भी कहा जाता है क्युकी स्टाइलेस Mouse का आविष्कार गोर्डन स्टोवोट ने किया था इस लिए जीस्टिक में G का मतलब गोर्डन होता है.Types Of Mouse

 

ये माउस एक पेन की तरह दिखाई देता है जिसमे एक पहिया यानि व्हील भी होता है इसका इस्तमाल ज्यादातर टच स्क्रीन डिवाइस में किया जाता है जैसे की टच स्क्रीन leptop आते हैं उनमे इस माउस का का इस्तमाल किया जाता है|

 

Mouse का क्या क्या काम होते हैं  

दोस्तों जब हम माउस को Computer से कनेक्ट कर देते हैं तो माउस में निचे की तरफ एक LED on हो जाती है जिसे हम लेज़र भी कहते हैं जैसे जैसे हम माउस को एक जगह से दूसरी जगह हिलाते हैं.Types Of Mouse

 

तो Computer की स्क्रीन में एक Cursor जो की (>) दिखता है वो मूव होता है उसे हम माउस की मदद से Computer की स्क्रीन पर कही भी ले जा सकते हैं और कोई भी File open कर सकते हैं|

 

मुख्यतः माउस  के 5 काम होते हैं

  • पोइंटिंग
  • slecting
  • क्लिकिंग
  • ड्रैग and ड्रॉप
  • स्क्रोलिंग

 

जिस File को आप को open करना है उस File के उपर Cursor को ले जा कर दो बार जल्दी जल्दी क्लिक करना होता है और वो File या Folder आप के Computer स्क्रीन में open हो जाता है.Types Of Mouse

 

Computer Mouse Use

एक और काम होता है माउस का जैसे की अगर आप को किसी Folder को एक जगह से दूसरी जगह ले कर जाना है तो हम उस Folder पर जा कर माउस के Pointer को रखते है और उसपर एक क्लिक करते हैं.

 

और उस क्लिक किये हुए बटन को बिना छोड़े माउस को एक जगह से दूसरी जगह मूव करते हैं तो आप देखंगे की वो Folder या File एक जगह से दूसरी जगह पर चली गयी है और फिर जहा पर आप को उस File को रखना है.

 

उस जगह पर आप अपने माउस के बटन को छोड़ दीजिये तो आप देखंगे की वो File एक जगह से दूसरी जगह पहुच गयी है तो देखा आप ने कितना असं है माउस को इस्तमाल करना|

 

इस पोस्ट से आप ने क्या सीखा 

Mouse क्या है दोस्तों आज के इस लेख में आप लोगो ने यह जाना की कैसे आप माउस का इस्तमाल कर सकते हैं और साथ ही ये जाना की माउस के कितने प्रकार होते हैं सभी प्रकार के Mouse की पूरी जानकारी दी गयी है इस पोस्ट में,Types Of माउस

 

अगर आप को यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो हमे कमेंट कर के जरुर बतायें और हमे सोसल अकाउंट में फौलो जरुर करें इस पोस्ट को अपने दोस्त रिश्तेदार को भी सोसल अकाउंट में शेयर करें मिलते हैं अगली पोस्ट में तब तक के लिए नमस्कार !

Leave a Comment